लिवर को स्वस्थ कैंसे रखें? - भोजन व घरेलू उपाय लिवर की मजबूती के लिए

अमेरिका के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार विश्व भर में प्रति वर्ष २० लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है। खराब जीवनशैली और खान - पान के कारण लिवर में समस्या हो सकती है। ऐसे में लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय करना जरूरी हो जाता है। स्वस्थ लिवर के लिए स्वस्थ भोजन के साथ कुछ जीवनशैली सुधार किया जा सकता है। 

बेहतर खान - पान का होना लिवर के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए सही भोजन का चुनाव करना बहुत जरूरी हो जाता है। चलिए समझते हैं इस लेख में कि लिवर को  स्वस्थ कैसे रखा जा सकता है।

लिवर क्या होता है?

लिवर शरीर के अंदर का सबसे बड़ा अंग है जो फेफड़े के ठीक नीचे दाईं ओर होता है। लिवर का कार्य पित्त और एल्बुमिन का निर्माण करना, अमीनो एसिड और खून के थक्के ( ब्लड क्लॉटिंग ) को रेगुलेट करना, इन्फेक्शन से बचाना,रक्त साफ करना, विटामिन और खनिज को स्टोर करना होता है। इसके अलावा लिवर कई सारे छोटे - बड़े काम करता है इसलिए लिवर का स्वस्थ होना आवश्यक होता है।  

लिवर की मजबूती के लिए भोजन

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए भोजन में एंटीऑक्सीडेंट और अन्य तत्वों को शामिल करना आवश्यक होता है। इसके लिए ताजे फल, हरी सब्जियां, कुछ पेय पदार्थ, मेवे आदि आहार में शामिल करने चाहिए। इन निम्नलिखित तरीकों से लिवर को स्वस्थ का रखा जा सकता है: 

फल

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए ताजे  फलों का सेवन करना काफी फायदेमंद साबित होता है। फलों में प्राकृतिक रूप से फाइबर, विटामिन और मिनरल पाए जाते हैं। लिवर को स्वस्थ रखने के लिए कुछ विशेष फल इस प्रकार है:

  1. आम: हल्का पका हुआ आम कई सारे तत्वों का भंडार होता है जैसे विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी ६, विटामिन के इत्यादि। आम खाने से लिवर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।
  2. पपीता: पपीता में एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जिससे यह लिवर सिरोसिस जैसे गंभीर रोग में भी फायदेमंद होता है।  अमेरिका के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार पपीता नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज के लिए काफी फायदेमंद है।
  3. ब्लूबेरी: ब्लूबेरी को "सुपर-फ्रूट" माना जाता है क्योंकि वे विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट आदि से भरपूर होते हैं। इन यौगिकों में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइन्फ्लेमेटरी और एंटीओबेसिटी जैसे गुण होते हैं जो लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। 
  4. अंगूर: अंगूर में अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और पॉलीफेनोल्स होते हैं। इन यौगिकों में लिवर-सुरक्षात्मक गतिविधि होती है जो लिवर की बीमारियों को रोकने के लिए उपयोगी होती है।  
  5. सभी खट्टे फल: सभी खट्टे फल: आम तौर पर खट्टे फल जैसे कीवी, संतरा आदि विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, ये दोनों ही लीवर को डिटॉक्स करने वाले एंजाइम के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं और लीवर को साफ करते हैं। 

सब्जियां

लिवर को मजबूत बनाने के लिए प्रतिदिन ताजी हरी सब्जियों का सेवन करना बेहद जरूरी होता है। कुछ सब्जियां इस प्रकार हैं:  

  1. ब्रोकली: ब्रोकली के इस्तेमाल से लिवर कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है। 
  2. गाजर: गाजर में विटामिन ए, बीटा कैरोटिन पाया जाता है जो लिवर के स्वास्थ्य को बेहतर रखता है। वे लिवर में लिपिड संचय, ऑक्सीडेटिव तनाव, सूजन और जलन को कम करने और लिवर की बीमारियों को रोकने में मदद करते हैं।
  3. पालक: पालक जैसी हरी पत्तियों में ग्लूटाथिओन नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है जो लिवर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकल जाता है। 
  4. चुकंदर: चुकंदर में एंटीऑक्सीडेंट और सूजनरोधी गुण होते हैं जो लिवर में किसी भी प्रकार के डैमेज से बचाता है। 

अनाज

लिवर के बेहतर स्वास्थ्य के लिहाज से उचित मात्रा में फाइबर का सेवन करना चाहिए। लिवर को फायदा पहुंचाने वाले कुछ बेहतर अनाज इस प्रकार हैं: 

  1. ओटमील: इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिससे लिवर को कार्य करने में आसानी होती है।  
  2. ब्राउन राइस: सफेद चावल की तुलना में, ब्राउन राइस फाइबर और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स से भरपूर होता है, जो लिवर एंजाइम को बेहतर बनाता है जो लिवर को कुशलता से काम करने के लिए फायदेमंद होता है। 
  3. बाजरा: बाजरा भी फाइबर का एक अच्छा स्रोत है जो लिवर की कार्यप्रणाली में सुधार करता है जिससे लिवर स्वस्थ रहता है।  

पेय पदार्थ

लिवर को ठीक रखने के लिए कुछ पेय पदार्थ का सेवन किया जा सकता है। कुछ पेय पदार्थ इस प्रकार हैं:     

  1. फलों और सब्जियों के रस: फलों और सब्जियों के रस में कई तत्व होते हैं जैसे विटामिन ए, बी, सी, ई और विटामिन के। ये तत्व लीवर के प्राकृतिक विषहरण एंजाइमों को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं, इसे नुकसान से बचा सकते हैं और लीवर एंजाइम के स्तर में सुधार कर सकते हैं।  
  2. ग्रीन टी: ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीकैंसर, एंटीओबेसिटी और सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जो लिवर को स्वस्थ रखते हैं। ये गुण लीवर की प्राकृतिक प्रक्रिया में मदद करते हैं, जो कि डिटॉक्सिफिकेशन है, और फ्री रेडिकल्स से संभावित जोखिम को भी खत्म करता है और लीवर की बीमारियों से बचाते हैं।
  3. चुकंदर, गाजर और खीरा जूस: इन सब्जियों का रस निकालकर पीने से लिवर की कार्यक्षमता में सुधार होता है। 
  4. नींबू का रस: नींबू विटामिन सी का एक अच्छा स्त्रोत है जिससे लिवर स्वस्थ रहता है। विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है जो मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करता है। ये फ्री रेडिकल्स लिवर की बीमारियों का कारण बनते हैं। साथ ही, विटामिन सी लिवर में वसा के जमाव को सीमित करने और फैटी लिवर की बीमारी को रोकने में भी मदद करता है।

अन्य खाद्य पदार्थ

फलों और सब्ज़ियों के अलावा कुछ अन्य खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें दैनिक जीवन में इस्तेमाल करने से लिवर स्वस्थ रहता है। कुछ अन्य सेवन करने वाली चीजें इस प्रकार हैं:

  1. जैतून का तेल: कम प्रोसेस किए गए जैतून के तेल में एंटीइंफ्लेम्टरी गुण पाए जाते हैं जो लिवर के लिए फायदेमंद होते हैं। 
  2. मेवे: अखरोट, पिस्ता इत्यादि में ओमेगा थ्री फैटी एसिड्स और पॉलीफेनॉल एंटीऑक्सीडेंट होता है जिससे लिवर को फायदा पहुंचता है। ये एंटीऑक्सिडेंट ऑक्सीकरण प्रक्रिया को कम करने में मदद करते हैं जो कई यकृत रोगों का कारण बनता है। 
  3. कम वसा वाले डेयरी उत्पाद: कम वसा वाले दूध और दही का सेवन करने से लिवर का स्वास्थ्य सुधरता है। यह लीवर में वसा के स्तर को कम कर सकता है, लीवर की क्षति को कम कर सकता है और रक्त में वसा को नियंत्रित कर सकता है।
  4. फैटी फिश: फैटी फिश में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स होते हैं जो लिवर को सेहतमंद बनाते हैं। यह लिवर के लिपिड चयापचय को नियंत्रित करता है, लिवर के कार्य में सुधार करता है, सूजन को कम करता है और लिवर की बीमारियों को रोकने में मदद कर सकता है। 
  5. हल्दी का सेवन: हल्दी में करक्यूमिन नाम का तत्व पाया जाता है जो लिवर के लिए काफी फायदेमंद होता है। हल्दी की एंटीऑक्सीडेंट संपत्ति शरीर में एक डिटॉक्स एजेंट के रूप में व्यवहार करके यकृत रोग के जोखिम को कम कर सकती है। 

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए घरेलू नुस्खे

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को आजमाया जा सकता है। घरेलू नुस्खों में हल्दी और दूध, वजन नियंत्रण और व्यायाम किए जा सकते हैं। इन निम्नलिखित उपायों से लिवर में फायदे देखने को मिलते हैं:   

  1. हल्दी और दूध: हल्दी और कम वसा वाले दूध से लिवर में किसी भी प्रकार का सूजन नही होता है।  
  2. वजन नियंत्रण: लिवर को स्वस्थ रखने के लिए वजन का नियंत्रण होना आवश्यक है। कम वजन होने पर लिवर के साथ - साथ पूरा शरीर भी स्वस्थ रहता है।   
  3. व्यायाम: लिवर को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए। रोजाना स्विमिंग, साइक्लिंग और योगासन करने से लिवर का स्वास्थ्य बेहतर रहता है।
  4. खूब पानी पिएं: लिवर की कार्यप्रणाली को बनाए रखने और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए पर्याप्त पानी पिएं।  

लिवर को स्वस्थ रखने के जीवनशैली सुधार

कुछ जीवनशैली सुधार करके लिवर को स्वस्थ रखा जा सकता है। बेहतर जीवनशैली से लिवर ही नहीं बल्कि पूरा शरीर स्वस्थ रहता है। कुछ मुख्य जीवनशैली सुधार इस प्रकार हैं:

  1. दैनिक रूप से शारीरिक मेहनत करने से वजन नियंत्रित रहता है जिससे लिवर भी स्वस्थ रहता है। इसलिए रोज कुछ व्यायाम और योगासन करना चाहिए।
  2. खान - पान में हरी सब्जियों और ताज़े फलों को शामिल करना चाहिए। 
  3. दिन में एक बार ब्लैक कॉफी का सेवन करना चाहिए।
  4. धूम्रपान और शराब का सेवन बिल्कुल कम या बंद कर देना चाहिए।

लिवर को स्वस्थ रखने का डाइट प्लान

लिवर को स्वस्थ रखने में डाइट का स्वस्थ होना बेहद आवश्यक होता है। उपयुक्त डाइट लेने से लिवर की कार्यशैली में सुधार होता है जिससे पूरा शरीर भी स्वस्थ होता है। लिवर के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त डाइट प्लान कुछ इस प्रकार है: 

सुबह के नाश्ते में 

  1. सुबह के नाश्ते में एक कटोरी मिक्स सब्जियों से बना पोहा और आधा गिलास कम फैट वाला दूध का सेवन किया जा सकता है। 

दोपहर के खाने में 

  1. दोपहर में मछली करी ( १०० ग्राम ) के साथ ३ रोटियां ले सकते हैं। इसके साथ १ कटोरी पुलाव खाया जा सकता है। 

शाम के नाश्ते में 

  1. शाम में १ कप हल्की चाय और २ व्हीट रस्क ले सकते हैं। या फिर चाय के साथ पोहा खा सकते हैं। 

रात के खाने में 

  1. रात के खाने में १ कटोरी टमाटर की सब्जी के साथ २ रोटी खा सकते हैं,  इच्छानुसार मूली, गाजर और खीरा का सलाद 

यह डाइट प्लान लिवर को विषाक्त पदार्थों को निकालने और लिवर की कार्यक्षमता में सुधार करने में मदद कर सकता है। लेकिन कृपया इन आहार योजनाओं का सेवन करने से पहले आहार विशेषज्ञ से सलाह लें।

सारांश

इस लेख में हमने समझा कि लिवर हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है जिसका स्वस्थ रहना बेहद आवश्यक होता है। लिवर को स्वस्थ रखने के लिए हरी सब्जियों और ताज़े फलों का सेवन करना जरूरी हो जाता है। एक स्वस्थ डायट प्लान को अपनाकर और कुछ जीवनशैली सुधार करके लिवर को स्वस्थ रखा जा सकता है। 

अगर आप लिवर से जुड़े रोगों की सलाह लेना चाहते हैं तो HexaHealth के माध्यम से लिवर विशेषज्ञ डॉक्टर से बात कर सकते हैं। हेक्साहेल्थ पर १५००+ डॉक्टर उपलब्ध हैं जिनका अनुभव १० साल से भी अधिक है। इसके अलावा एक्सपर्ट सर्जन किसी भी सर्जरी को सुविधाजनक तरीके से करने में मदद करते हैं। हमारे प्रशिक्षित हेक्साबडीज सर्जरी से पहले और रिकवरी होने के बाद भी पेशेंट का पूरा ख्याल रखते हैं।

यह भी पढ़ें:

  1. लिवर खराब होने के क्या लक्षण हैं?
  2. List of 10 Best Herbs for Detoxing Your Liver In English
  3. Top 10 Super Healthy Foods Good for Your Liver Function in English

अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल

लीवर मजबूत करने के लिए क्या चीज खानी चाहिए?

लिवर को मजबूत करने के लिए ताजे फलों जैसे अंगूर, ब्लूबेरीज, क्रैनबेरीज, एवोकाडो और सभी तरह के खट्टे फल फायदेमंद हो सकते हैं। सब्जियों में ब्रोकली, पालक, गाजर, मूली, खीरा इत्यादि को शामिल करना चाहिए। लहसुन और अदरक को संतुलित मात्रा में इस्तेमाल करने से लिवर स्वस्थ होता है। इसके अलावा कॉफी, ग्रीन टी जैसे पेय पदार्थ लिए जा सकते हैं। 

लिवर के लिए सबसे फायदेमंद चीज क्या है?

लिवर के लिए एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर युक्त आहार जैसे खट्टे फल, साबुत अनाज, दालें, ताजे फल और हरी पत्तेदार सब्जियां सबसे फायदेमंद चीज होती हैं। 

लिवर के लिए सबसे अच्छा फल कौन सा है?

लिवर के लिए अंगूर, केला, पपीता, एवोकाडो जैसे फल अच्छे होते हैं। इन फलों का सेवन करने से लिवर स्वस्थ रहता है और लिवर में अगर सूजन या इन्फेक्शन की समस्या है तो उसमें भी फायदेमंद हो सकते हैं। 

लीवर साफ करने के लिए क्या पीना चाहिए?

लिवर को साफ करने के लिए कॉफी, अदरक और नींबू का पानी, ग्रीन टी पीना फायदेमंद साबित हो सकता है। इनमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़ने में मदद करते हैं और लीवर की बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। यह लिवर एंजाइम में भी सुधार करता है जिससे लिवर की कार्यप्रणाली में सुधार होता है। 

क्या दही लिवर के लिए अच्छा है?

दही एक ऐसा आहार है जिसमें काफी ज्यादा मात्रा में प्रोबायोटिक होते हैं जो कि पेट के लिए लाभदायक हो सकते हैं। ऐसे में अगर कम फैट वाली दही का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो यह लिवर के लिए फायदेमंद होता है। 

लिवर का रामबाण इलाज क्या है?

लिवर का इलाज करने के लिए कुछ घरेलू उपाय जैसे की हल्दी और ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है। ग्रीन टी और हल्दी के अंदर एंटीऑक्सीडेंट और सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जो लिवर की सूजन और दर्द से राहत पहुंचाने में मदद कर सकते हैं। 

लिवर खराब होने पर कहाँ दर्द होता है?

लिवर खराब होने पर पेट में दर्द होता है; विशेष तौर से पेट के दाहिनी तरफ फेफड़े के ठीक नीचे दर्द रहता है। इसके अलावा लिवर खराब होने पर पूरे शरीर में कमजोरी आ जाती है। 

किशमिश से लिवर की सफाई कैसे करें?

किशमिश से लिवर की सफाई करने के लिए ५०० मिलीलीटर पानी को गैस पर उबाल लें और फिर उसमें लगभग दो सौ ग्राम किशमिश डाल दें। इसे अच्छी तरह से उबाल लें और फिर रात भर के लिए ऐसे ही छोड़ दें। सुबह नाश्ता करने से पहले इस पानी को छान लें और पी लें। 

लीवर कितने दिनों में ठीक हो जाता है?

अगर शराब पीने की वजह से फैटी लीवर की समस्या हो गई है तो रोगी को चाहिए कि वह शराब पीना छोड़ दें। उसके बाद फिर लीवर ५-६ महीने में ठीक हो जाता है। लेकिन ऐसा तब होता है जब लिवर में कोई गंभीर बीमारी नहीं होती है। अगर लिवर गंभीर रोग से पीड़ित है तो ऐसे में इसे ठीक होने में ज्यादा समय लग सकता है। 

कैसे पता करें कि लिवर कमजोर है?

जब लीवर कमजोर हो जाता है तो शरीर में कई तरह के लक्षण जैसे कि नींद ना आना, भूख ना लगना, उल्टी आना, शरीर थका थका सा रहना, पेट में दर्द और सूजन की समस्या दिखाई देने लगते हैं।

क्या फैटी लिवर में दूध पीना चाहिए?

दूध के अंदर कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे कि कैल्शियम,मैग्नीशियम, फास्फोरस जैसे तत्व पाए जाते हैं जो कि शरीर के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। लेकिन अगर कोई व्यक्ति फैटी लीवर से पीड़ित है तो ऐसे में उसे चाहिए कि वह फुल फैट वाले दूध का इस्तेमाल ना करें‌ क्योंकि उसमें वसा की मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए फैटी लीवर में कम फैट वाला या फिर स्किम्ड मिल्क पीना चाहिए। ‌

क्या क्रीम आपके लिवर के लिए खराब है?

क्रीम के अंदर बहुत ज्यादा मात्रा में फैट होता है जोकि लिवर के लिए नुकसानदायक हो सकता है। क्रीम खाने से लिवर पर वसा की परत जम सकती है जो लिवर रोग का कारण बन सकती है। इसलिए क्रीम का सेवन ना करना ही उचित रहता है

लिवर की गर्मी को कैसे पहचाने?

लिवर की गर्मी होने पर रोगी को चक्कर आना, छाती में दर्द होना, मुंह में कड़वाहट महसूस होना, खांसी होने पर थूक में खून आना जैसी समस्याएं हो सकती हैं जोकि लिवर की गर्मी के लक्षण हैं। 

क्या ज्यादा चाय पीने से लीवर खराब हो सकता है?

चाय का अधिक सेवन करने से चाय में इस्तेमाल होने वाली शक्कर का बुरा प्रभाव पड़ता है और डाइबिटीज की समस्या देखी जा सकती जिससे लिवर में समस्या हो सकती है। इसके अलावा अगर चाय में इस्तेमाल होने वाले दूध में फैट की मात्रा अधिक है तो फैटी लिवर किस समस्या हो सकती है।  

लीवर को ठंडा रखने के लिए क्या खाएं?

लिवर को ठंडा रखने के लिए अंगूर, तरबूज, एवोकाडो, संतरा, ब्रोकली का सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा नींबू पानी भी लीवर को ठंडा रखने में उपयोगी हो सकता है। 

About the Author

HexaHealth Care Team

परामर्श बुक करें

उपरोक्त बटन पर क्लिक करके आप कॉलबैक प्राप्त करने के लिए सहमत हैं

नवीनतम स्वास्थ्य लेख

WhatsApp Expert Book Appointment